india ncap result

भारत एनसीएपी परिणाम कुछ दिनों में घोषित किया जाएगा; कार क्रैश टेस्टिंग पर खर्च हुए 60 लाख रुपये, जानिए किसे होगा फायदा?

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

भारत न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम (भारत एनसीएपी) के पहले चरण का क्रैश परीक्षण किया जा चुका है और आने वाले दिनों में इसकी घोषणा की जाएगी।

इंडिया एनसीएपी के पहले चरण में टाटा मोटर्स और महिंद्रा एंड महिंद्रा के साथ-साथ मारुति सुजुकी और हुंडई मोटर इंडिया की कारों का सुरक्षा के लिए परीक्षण किया गया है।

भारत एनसीएपी क्रैश टेस्ट परिणाम

ग्लोबल एनसीएपी के साथ-साथ इंडिया एनसीएपी भी शुरू किया गया है और पहले चरण में विभिन्न कंपनियों की कारों की टेस्टिंग भी की गई है।

अब बारी अगले कुछ दिनों में घोषित होने वाले नतीजों की है. खबर आ रही है कि पहले चरण में टाटा मोटर्स की हाल ही में लॉन्च हुई नई हैरियर फेसलिफ्ट और अन्य गाड़ियों की क्रैश टेस्टिंग की गई है। हमने आपको कुछ समय पहले बताया था

कि इंडिया एनसीएपी के पहले चरण में टॉप 4 कंपनियों के वाहनों की क्रैश टेस्टिंग के बाद उनकी सुरक्षा रेटिंग तय की जाएगी।

इंडिया एनसीएपी कार क्रैश टेस्टिंग 15 अक्टूबर से होने वाली थी, लेकिन त्योहारी सीजन के कारण इसे 15 दिसंबर तक बढ़ा दिया गया था।

अब पहले चरण में कार की क्रैश टेस्टिंग के बाद परीक्षण संस्थानों ने अपना मूल्यांकन प्रस्तुत कर दिया है। अब परिणाम यानी सुरक्षा रेटिंग की घोषणा कार मूल्यांकन योजना के कार्यक्रम प्रबंधक सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट (सीआईआरटी) द्वारा आने वाले दिनों में की जाएगी।

इतना खर्च हो गया

हम आपको बता दें कि इंडिया एनसीएपी के पहले चरण में डीजल और पेट्रोल से चलने वाली कारों और एसयूवी के साथ-साथ सीएनजी और बैटरी से चलने वाली यानी इलेक्ट्रिक कारों का क्रैश टेस्ट किया गया है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि एक कार क्रैश टेस्ट की कीमत 60 लाख रुपये है। यह लागत अन्य देशों के ग्लोबल एनसीएपी या न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम से तीन से चार गुना अधिक है।

ऑटोमोटिव मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एआरएआई) और इंटरनेशनल सेंटर फॉर ऑटोमोटिव टेक्नोलॉजी (आईसीएटी) अधिकृत डीलरशिप से क्रैश टेस्टिंग के लिए कारें लेते हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स क्या कहती हैं?

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी निकट भविष्य में एक मेगा इवेंट में भारत NCAP क्रैश टेस्टिंग में भाग लेने वाली कारों की सुरक्षा रेटिंग की घोषणा कर सकते हैं।

हम आपको यहां बता दें कि किसी भी कार की क्रैश टेस्टिंग के दौरान एडेल पैसेंजर प्रोटेक्शन और चाइल्ड प्रोटेक्शन की सुरक्षा की जांच की जाती है और उन सभी फीचर्स की जांच की जाती है, जो कार चालक और यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित कर सकते हैं। अच्छी सुरक्षा रेटिंग वाले वाहन लोगों के लिए आवश्यक और फायदेमंद हैं।

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *