बाजार खुलते ही Polycab शेयर पर लगा सर्किट, इसकी सबसे बड़ी वजह जानिए

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Polycab Share : Polycab का शेयर गुरुवार (11 जनवरी 2024) को 20% के लोअर सर्किट के साथ ₹3929.5 प्रति शेयर के भाव पर था. 2025 में अब तक यह स्टॉक 25% गिर चुका है.

Polycab का गुरुवार को शुरुआती कारोबार में ही 20% की कमजोरी के साथ कामकाज करते नजर आया. टैक्स सर्वे और इससे जुड़े अपडेट्स को लेकर पिछले कई दिनों से खबरें आ रही हैं. बुधवार को इनकम टैक्स विभाग ने बुधवार (10 जनवरी) बयान में कहा कि केबल और वायर बनाने वाली एक कंपनी के ठिकानों पर सर्च ऑपरेशन की गई है.

इसके पहले मंगलवार (9 जनवरी) को Polycab के शेयर में 9% की गिरावट देखने को मिली है. इस दिन ही पहली बार कंपनी के ठिकानों पर टैक्स विभाग के सर्च ऑपरेशन की जानकारी सामने आई थी. हालांकि, इसके बाद कंपनी ने बयान जारी टैक्स चोरी की खबर को खारिज कर दिया था.

शेयर को लेकर एनालिस्ट बुलिश

Polycab को लेकर साल के शुरुआत में ही निगेटिव खबरें आने के बीच बाजार अभी भी इस स्टॉक पर बुलिश नजर आ रहा है. इस कंपनी को ट्रैक करने वाले 31 एनालिस्ट में से 60% ने शेयर में ‘खरीदारी’ की राय दी है. जबकि, 6 एनालिस्ट ने इस स्टॉक को ‘होल्ड’ की सलाह दी है. पिछले साल दिसंबर महीना लगातार तीसरा ऐसा महीना रहा, जब Polycab शेयर पर ‘बिक्री’ की राय दी है.

इन सभी एनालिस्ट की टारगेट को देखें तो शेयर के भाव में बुधवार की क्लोजिंग भाव अभी भी करीब 14.5% की तेजी संभव देखने को मिल सकती है. इन एनालिस्ट में से Jefferies ने शेयर पर ₹7000 प्रति शेयर का टारगेट रखा है, जोकि सबसे ज्यादा है. बुधवार के क्लोजिंग भाव के मुकाबले यह टारगेट करीब 42% ज्यादा है.

IPO प्राइस से 10 गुना रिटर्न देने वाला स्टॉक

अप्रैल 2019 में लिस्ट होने के बाद Polycab का शेयर करीब दस गुना की तेजी दिखा चुका है. Polycab का IPO प्राइस ₹538 प्रति शेयर तय किया गया था, जिसे 51 गुना सब्सक्राइब किया गया था. 2019 में यह पांचवां सबसे ज्यादा सब्सक्राइब किया गया IPO था. लिस्ट होने के बाद 2019 में यह स्टॉक 84% की तेजी दिखा चुका है. दिसंबर 2023 को यह स्टॉक ₹5733 प्रति शेयर का रिकॉर्ड ऊपरी स्तर पर बना चुका है.

2024 की शुरुआत को छोड़ दें तो Polycab ने लिस्ट होने के बाद से हर साल सालाना आधार पर पॉजिटिव रिटर्न दिया है. 2021 और 2023 में यह स्टॉक 100% की तेजी दिखा चुका है.

प्रोमोटर्स ने हिस्सा घटाया, FPIs ने खूब की खरीदारी

पिछली कुछ तिमाहियों में Polycab के प्रोमोटर्स ने हिस्सेदारी भी घटाई है. 30 सितंबर 2023 तक प्रोमोटर्स के पास इस कंपनी में 65.91% हिस्सा था. जबकि, पिछले साल सितंबर तिमाही तक प्रोमोटर्स के पास 67.79% हिस्सा था. सितंबर में घरेलू म्यूचुअल फंड्स का इस स्टॉक में हिस्सा 3 साल के निचले स्तर पर फिसल चुका है. मार्च 2022 में यह सबसे ज्यादा 8.17% था. सितंबर तिमाही तक कंपनी में घरेलू म्यूचुअल फंड्स का हिस्सा 6% है.

दूसरी ओर, विदेशी संस्थागत निवेशकों ने इस स्टॉक में लगातार हिस्सेदारी बढ़ाई है. FPI की हिस्सेदारी जून में 9% के मुकाबले बढ़कर सितंबर में 12% पर पहुंच चुका है.

Polycab का शेयर गुरुवार (11 जनवरी 2024) को 20% के लोअर सर्किट के साथ ₹3929.5 प्रति शेयर के भाव पर था. 2025 में अब तक यह स्टॉक 25% गिर चुका है. मार्च 2020 के बाद किसी एक दिन के दौरान इस स्टॉक में यह सबसे बड़ी गिरावट है.

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *